Chhattisgarh current affairs in Hindi

डेली-करंट-अफेयर्स -28-जुलाई,-2021 -छत्तीसगढ़ -इंडिया -CGPSC-CG-Vyapam

Chhattisgarh daily current affairs in Hindi | 28 july 2021 | cgpsc cg vyapam cg govt exam (छत्तीसगढ़ समसामयिकी प्रश्न 2021)

#1 स्वदेश दर्शन योजना 

चर्चा में क्यों है ?

केंद्रीय पर्यटन व संस्कृति मंत्री जी. किशन रेड्डी ने राज्यसभा के चर्चा में बताया की रामायण सर्किट स्वदेश दर्शन योजना की थीम आधारित  सर्किट में सबसे अग्रणी है.

 स्वदेश दर्शन योजना 

केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय ने वर्ष 2014-15 में इस योजना की शुरुवात की.

पर्यटन मंत्रालय ने थीम आधारित पर्यटन सर्किटों में एकीकृत अवसंरचना विकास के लिए स्वदेश दर्शन योजना शुरू की है जिसका मुख्य उद्देश्य है की इन पर्यटक सर्किटों को एकीकृत रूप से उच्च पर्यटक मूल्य, प्रतिस्पर्धा और स्थिरता के सिद्धांतों पर विकसित करना है.

यह एक सेंट्रल सेक्टर स्कीम है जिसका आशय है की इस योजना का पूरा खर्चा केंद्र सरकार करेगी.

 मंत्रालय ने रामायण सर्किट के अलावा बौद्धा, जैन तीर्थकर, कृष्ण व अध्यात्म सर्किटों का चुनाव किया है. 

 ट्राईबल टूरिज्म सर्किट छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ भी इस योजना में शामिल है इसके अंतर्गत ट्राईबल टूरिज्म सर्किट विकसित किया जा रहा है. इस योजना के तहत पर्यटन स्थलों में बुनियादी ढ़ांचा विकसित किया जायेगा. पर्यटन को बढ़ावा मिलने से स्थानीय लोगों के लिए रोजगार के अवसर मिलेंगे और स्थानीय कला, हस्तशिल्प, संस्कृति को भी बढ़ावा मिलेगा.

ट्राइबल टूरिज्म सर्किट के अंतर्गत कुल 13 स्थानों पर 96 करोड़ की लागत से ईको एथनिक टूरिस्ट रिसार्ट निर्मित किया जाना है.

जिसमें जशपुर, कुनकुरी, मैनपाट, कमलेश्वरपुर (मैनपाट), महेशपुर, कुरदर, सरोधा दादर, गंगरेल (धमतरी), नथियानवागांव, कोण्डागांव, जगदलपुर, चित्रकोट एवं तीरथगढ़ शामिल हैं. इस योजना के तहत क्रमशः कुरदर (बिलासपुर), सरोधा दादर (कबीरधाम) तथा धनकुल (कोण्डागांव) ईको एथनिक रिसार्ट का निर्माण पूरा कर लिया गया है.

 

#2 असम और मिजोरम सीमा विवाद 

इस विषय पर हम कल चर्चा कर चुके है. असम और मिजोरम सीमा विवाद

 

#3  दिल्ली, उत्तर प्रदेश सहित कई अन्य राज्यों में बिजली संकट

चर्चा में क्यों है ?

दिल्ली, उत्तरप्रदेश, बिहार, व पंजाब के पावर प्लांटों में कोयले का स्टॉक लगभग खत्म हो चुका है.

कारण 

सीसीएल की आम्रपाली परियोजना से इन राज्यों के प्लांटों को कोयले की आपूर्ति होती है. परियोजना में पिछले आठ दिन से कोयले की ढुलाई और खनन कार्य ठप है. 

सेन्ट्रल कोलफील्ड्स लिमिटेड (सीसीएल)

सीसीएल की स्‍थापना (सर्वप्रथम एनसीडीसी लिमिटेड) एक नवम्बर 1975 को सीआईएल की पांच सहायक कंपनियों में से एक सहायक कंपनी के रूप में हुई. कोलइंडिया लिमिटेड कोयला हेतु देश की प्रथम नियंत्रक कंपनी है.अभी सीआईएल की आठ सहायक कम्पनियॉं हैं. यह 2007 से मिनीरत्न कंपनी में शामिल है.

#4 विलफुल डिफाल्टर्स

चर्चा में क्यों है ?

 विलफुल डिफाल्टर की संख्या बढ़कर 2,494 हुई यह जानकारी कल राज्य सभा में वित्त मंत्री  निर्मला सीतारमण ने चर्चा के दौरान बताई. 


विलफुल डिफॉल्टर किस व्यक्ति को कहेंगे ?

RBI के अनुसार विलफुल डिफॉल्टर उस कर्ज़दार को कहेंगे जो किसी भी बैंक से लोन लिया हुआ है और उसका भुगतान नहीं कर रहा है जबकि वह रीपेमेंट करने में सक्षम है.

#5 शत प्रतिशत शुद्ध पेय जल आपूर्ति करता पहला शहर बना पुरी 

ओडिशा के पुरी शहर देश के पहला शुद्ध जल आपूर्तिकर्ता की लक्ष्य को हाशील किया. यह लंदन, नूव यॉर्क जैसे शुद्ध जल पूर्तिकर्ता  शहरो में शामिल हो गया है. पुरी के सार्वजनिक जगहों पर ड्रिंकिंग वाटर फाउंटेन लगाए गए है जो की प्लास्टिक वाले बॉटल्स में कमी लाएगी. जिससे प्लास्टिक को लेकर प्रदूषण में कमी आएगी.

#6 मत्स्य पालन को भी कृषि का दर्जा 

छत्तीसगढ़ सरकार ने मत्स्य पालन को कृषि के रूप में शामिल किया अब मछली पालन के लिए मछुवारो को मिलेगी ब्याजमुक्त ऋण.

कृषि प्रधान जिला बेमेतरा व अन्य जिलों के किशानो को होगा लाभ.

ढाई सालों में मत्स्य बीज उत्पादन के मामले में 13% और मत्स्य उत्पादन में 9% की वृद्धि हुई.

मत्स्य पालन के लिए अब तक मछुआरों को 1% ब्याज पर 1 लाख तक तथा 3% ब्याज पर अधिकतम 3 लाख रुपए तक का ऋण मिलता था. लेकिन अब सरकार के इस फैसले ने मत्स्य पालन से जुड़े लोग सहकारी समितियों से जरूरत के अनुसार बिना ब्याज के आसानी से लोन ले सकेंगे. 

साथ ही मत्स्य पालकों एवं मछुआरों को भी किसानों की तरह क्रेडिट कार्ड की सुविधा मिलेगी.

Chhattisgarh daily current affairs in Hindi | 27 july 2021

Post a Comment

0 Comments